टीकमगढ़

जतारा :- पुराने जमीनी विवाद पर से आरोपी ने गोली मारकर की हत्‍या ,हत्‍या के आरोपी को आजीवन कारावास

बालकिशन प्रजापति एमपीसीजी एक्सप्रेस न्यूज

पुराने जमीनी विवाद पर से आरोपी ने गोली मारकर की हत्‍या ,हत्‍या के आरोपी को आजीवन कारावास

जतारा :- टीकमगढ़ अभियोजन मीडिया सेल प्रभारी एन.पी. पटेल ने बताया कि फरियादी अर्जुन सिंह ने थाना बम्‍हौरीकलॉ में मौखिक सूचना दी कि दिनांक 22.06.2021 को शाम 05:00 बजे करीब वह अपने खेत पर था। उसका लड़का पप्‍पू उर्फ शेर सिंह परिहार ट्रैक्‍टर चलाकर खेत में बुवाई कर रहा था। उसी समय उसके गांव का हीरा सिंह पायक हाथ में बंदूक लिये उनके खेत पर आया, आरोपी से उनका पुराना जमीनी विवाद था। इसी बात पर से हीरा सिंह पायक ने ट्रैक्‍टर चला रहे उसके लड़का पप्‍पू उर्फ शेर सिंह परिहार को सामने से बंदूक से गोली मार दी, जिससे वह ट्रैक्‍टर से नीचे गिर गया। जब फरियादी ने जाकर देखा तो उसका लड़का पप्‍पू उर्फ शेर सिंह खत्‍म हो गया था। उन लोगों को देखकर आरोपी हीरा सिंह वहां से बंदूक लेकर भाग गया था। फरियादी द्वारा दी गई मौखिक सूचना के आधार पर देहाती व मर्ग नालिसी लेखबद्ध की गयी जिसके आधार पर थाना बम्‍हौरीकलॉ के अपराध अंतर्गत धारा 302 भा.दं.सं. के तहत आरोपी के विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया गया। दौरान विवेचना घटनास्‍थल का नक्‍शा मौका बनाया एवं साक्षियों के कथन लेखबद्ध किये गये। शव पंचनामा पश्‍चात् मृतक के शव का शव परीक्षण किया गया। आरोपी को गिरफ्तार कर उससे बंदूक व कारतूस जप्‍त किए गए। प्रकरण में जप्‍तशुदा संपत्ति को रासायनिक परीक्षण हेतु पुलिस अधीक्षक टीकमगढ़ के माध्‍यम से एफ.एस.एल. सागर भेजा गया। प्रकरण में आवश्‍यक अनुसंधान उपरांत अभियोग पत्र माननीय न्‍यायालय के समक्ष प्रस्‍तुत किया गया। माननीय न्‍यायालय जतारा द्वारा उक्‍त प्रकरण में संपूर्ण विचारण पश्‍चात् मामले में आयी अभियोजन साक्ष्‍य के आधार पारित अपने निर्णयानुसार बंदूक से गोली मारकर हत्‍या के आरोपी हीरा सिंह पायक निवासी ग्राम प्रेमपुरा थाना बम्‍हौरीकलॉ जिला टीकमगढ़ (म.प्र.) को धारा 302 भा.दं.सं. एवं धारा 30 आयुध अधिनियम में दोषसिद्ध पाते हुए धारा 302 भा.दं.सं. में आजीवन कारावास एवं 2000/- (दो हजार) रूपये के अर्थदण्‍ड तथा धारा 30 आयुध अधिनियम 06 माह के साधारण कारावास एवं 1000/- (एक हजार) रूपये के अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया है। उक्‍त प्रकरण शासन द्वारा जघन्‍य एवं सनसनीखेज श्रेणी का होकर चिन्‍हित था, जिसमें पैरवी श्री सुनील कुमार नामदेव एडीपीओ द्वारा की गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close