टीकमगढ़

जतारा :- बिना डॉक्टरों के चल रहा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, उपचार के अभाव भड़क रहे लोग।

बालकिशन प्रजापति एमपीसीजी एक्सप्रेस न्यूज

बिना डॉक्टरों के चल रहा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र,
उपचार के अभाव भड़क रहे लोग

जतारा :-  बम्हौरीकलां सरकार के द्वारा गरीबों को समय पर सही उपचार मिले और लोगो को उपचार के अभाव भड़कना ना पड़े , लेकिन एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ऐसा है जहां पर डाक्टर नहीं है, जिससे लोगों को उपचार नहीं मिल पा रहा है।बताते चलें कि जतारा विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत बम्हौरीकलां में भले ही सरकार के द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उन्नयन कर दिया गया है। लेकिन यहां पर कोई डॉक्टर नहीं है। जिसके चलते आए दिन उपचार के अभाव में न केवल लोगों को भटकना पड़ रहा है बल्कि थाना बमोरी कला क्षेत्र के अंतर्गत होने वाली सड़क दुर्घटनाओं के गंभीर घायलों को भी समय पर उपचार नहीं मिल रहा और उनको उपचार के लिए थाना क्षेत्र से 25 और 30 किलोमीटर की दूरी तय कर पलेरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जाना पड़ता है ऐसे में कई गंभीर व्यक्तियों की अभी तक जाने भी जा चुकी है इस संबंध में ग्रामीणों ने जिला प्रशासन को एक पत्र लिखा है ।जिसमें उन्होंने उल्लेख किया है कि
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डाक्टर महेन्द्र कोरी पलेरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अटैच है और वहां पर बीते 2 साल से प्रभारी बीएमओ के तौर पर भी काम कर रहे हैं कोविड-19 के समय डॉक्टर पुष्पेंद्र झा को भी विभाग के द्वारा नियुक्त किया गया था लेकिन पुष्पेंद्र झा मैं अपनी परीक्षा अवधि पूरी करने के बाद वह भी यहां से पीजी करने के लिए चले गए अब ऐसी स्थिति में यहां पर स्वास्थ्य कर्मचारी की मौजूद है जो केवल गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी पॉइंट के लिए कर्मचारी काम कर रहे हैं अगर किसी व्यक्ति को गंभीर बुखार या अन्य कोई बीमारी है तो ऐसी स्थिति में उसे इलाज नहीं मिल पाता सड़क दुर्घटना होने के कारण समय पर उपचार के अभाव कभी कभी घायल व्यक्ति की मौत हो हो जाती है।
जिसको लेकर ना केवल ग्रामीण परेशान हो रहे हैं और जिला प्रशासन से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डाक्टरों को पदस्थ को पदस्थ कराने की मांग की है।ग्रामीण ने यह भी कहा कि यहां पर डाक्टर नहीं होने से बीमार व्यक्ति को अपना उपचार कराने के लिए उत्तर प्रदेश के झांसी जिले के मऊरानीपुर जाना पड़ता है।तब कहीं जाकर उपचार मिल पाता है।ग्रामीण ने यह भी कहा कि अगर स्वास्थ्य सेवाएं को ठीक नहीं किया गया तो ग्रामीण आंनदोलन करने को बाध्य होंगे।
क्या कहते अधिकारी – इस संबंध में जतारा एस डी संजय कुमार जैन ने बताया कि बम्हौरीकलां में डाक्टर की पदस्थापना को लेकर कलेक्टर एवं
मुख्य जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को पत्र लिखकर इस समस्या को जल्दी हल किया जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close