छतरपुर

छतरपुर :- बेटियों को सिखाए खुशहाल और सशक्त जीवन जीने के गुण

MPCGEXPRESS NEWS

बेटियों को सिखाए खुशहाल और सशक्त जीवन जीने के गुण ,युवतियों के सक्षमीकरण के लिए स्वर्णोदय तीर्थ खजुराहो में दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

छतरपुर :-  पर्यटन स्थल खजुराहो के श्री दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र स्वर्णोदय तीर्थ खजुराहो में 21वीं सदी में सामाजिक चुनौतियों का सामना करने के लिए 13 से 25 वर्ष तक की बेटियों के लिए दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस मौके पर बेटियों को आत्मरक्षा के साथ ही खुशहाल और सशक्त जीवन व्यतीत करने के गुर सिखाये गए।
श्री दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र प्रबंधन समिति एवं स्वर्णोदय तीर्थ न्यास खजुराहो के तत्वाधान में आयोजित स्मार्ट गल्र्स प्रशिक्षण के दौरान भारतीय जैन संगठन के प्रांतीय अध्यक्ष एवं प्रशिक्षक डॉ. विमल कुमार जैन एवं सपन जैन ने बताया कि संस्था के इस कार्यशाला का उद्देश्य लड़कियों को सामाजिक चुनौतियों का सामना करने तथा खुशहाल और स्वस्थ्य जीवन जीने के लिए सशक्त बनाना है। प्रशिक्षण में इंजीनियर रमेश जैन सतना ने कहा कि वर्तमान परिदृश्य प्रत्येक समाज के लिए चिंता का विषय है। आज हमारी बेटियां अपने कैरियर बनाने के लिए बड़े शहरों में अध्ययन करने जा रही हैं किंतु चुनौती यह है कि वे वहां पर सुरक्षित कैसे रहें। समाज में लगी आग को तो हम बुझा नहीं सकते किंतु उस आग से निपटने के लिए बेटियों को फाइटर तो बना ही सकते हैं। इसी उद्देश्य को लेकर बेटियों को हर विपरीत परिस्थिती का सामना करने के लिए विश्ेाष प्रशिक्षण दिया गया। इस मौके पर युवतियों को आत्मरक्षा के कई गुर सिखाने के साथ ही उन्हेें कैरियर निर्माण और भारतीय संस्कृति के अनुरूप रहने और चलने की सीख दी गई। बेटियों के माता-पिता से भी संवाद स्थापित किया गया। साथ ही माता पिता को भी अपने बच्चों के बेस्ट फें्रड बनने की सलाह दी गई। दो दिवसीय प्रशिक्षण के समापन पर संत शिरोमणि आचार्य विद्यासागर महाराज की शिष्या आर्यिका दृढ़मति माताजी ने बालिकाओं को अपने आर्शीवचन दिए। प्रशिक्षण के समापन अवसर पर दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र प्रबंध समिति खजुराहो के अध्यक्ष केसी जैन, पंडित देवप्रभाकर शास्त्री इंजीनियरिंग कॉलेज की सचिव श्रीमती सरोज जैन, राकेश जैन, विनोद जैन, महेश जैन प्रमुख रूप से मौजूद रहे। जीवन बदलने की बेटियों को दी यह सीख।पंडित देवप्रभाकर शास्त्री इंजीनियरिंग कॉलेज की सचिव श्रीमती सरोज जैन के संयोजकत्व में आयोजित सक्षमीकरण कार्यशाला में बेटियों को आत्म जागरूकता, आत्म-सम्मान और आत्मरक्षा, संवाद एवं नाते संबंध, मैत्री और प्रलोभन, विकल्प और निर्णय जैसे विषयों पर प्रशिक्षित किया गया। साथ ही माता पिता के साथ संवाद कर उन्हें अपने बच्चों के साथ मित्रतापूर्ण व्यवहार करने की नसीहत दी गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close