छतरपुर

कैमा गॉव के रहवासियाे का आशियाना नही उजडने दूँगा——— शंभूचरण

रविशंकर पाठक

16 काे डेरा डालाे घेरा डालाे कलेक्टे्ट मे हाेगॉ आंदाेलन……

सतना।
कैमा गॉव मे लगी चाैपाल सभी ने एक स्वर मे कहा
पहले मुआवजा व जमीन दे फिर करे विस्तारण
कैमा गॉव के लाेगाे ने कहा आज हमारे साथ काेई जनप् तिनिघी नही सुन रहा समय आने मे सिखायेगे सबक
आज कैमा गॉव मे एक सभा का आयाेजन किया गया जिसमे मॉननीय समाजसेवी श्रीमान् शंभू चरण दुबे जी शिरकत की !
सभा मे कैमावासी बताते हुये कहा श्री दुब से आशियाना गिरने की समस्या निवारण की लगाई गुहार .
ज्ञात हाे रेलवे प्रबंघन विस्तार करने की मंशा से गरीबाे काे हटाने के लिये 18 सितम्बर तक की माेहलत दी है कहा है अगर खाली नही किये ताे बल दा् रा हटाया जॉयेगॉ !!

कैमा गॉव के लाेगाे ने *शंभू भईया* से कहा कैमा उन्मूलन मे कैमावासियाे काे जमीन दी जाय यहा सरकारी जमीन है जॉच की जाय !

रेलवे तानाशाही मे उतारू है यह रवैया गलत है!
ज्ञात हाे सन् 1970मे शासन दा्रा ही विस्थापित कर साेनाैरा से कैमा मे बसाये गये थे जब शासन ने ही बसाया है ताे इस तरह ही दाेगली नीति बर्दास्त नही करेगे
*समाजसेवी शंभू चरण दुबे जी* ने सभा काे संबाेघित करते हुये कहा की मै किसी भी गरीब के आशियाने उजडने नही दूँगॉ पहले रेलवे प् बंघन मुआवजा व जमीन दे बाद मे विस्थापन कराये !
रेलवे की विस्तारवादी नीति पर तंज कहते हुये कहा की गरीबाे का आशियाना उजाड कर किस मुँह से विकास की बात कर रहा है रेलवे का झूठी बात करना शाेभा नही देता
कैमॉ वासियाे के साथ इस तरह का खुलेआम अत्याचार बर्दास्त नही किया जॉयेगॉ !!
जब भी कैमा गॉव के लाेगाे के ऊपर रेलवे प् बंघन ने तानाशाही की है मै सदैव खडा रहा आैर कैमा गॉव के लाेगाे काे न्याय दिलाने जिस हद तक जाना पडेगॉ उस हद तक जॉऊगॉ !!!!
युवानेता *काैशलेन्द दिवेदी घूरडॉग* ने *शंभू भईया* के अगुआई मे कैमा गॉव के लाेगाे काे न्याय दिलाने आर पार की लडाई लडने की बात कही !!!
ये रहे साथ मे विनाेद जयसवाल कुबेर पॉन्डेय, प् दीप दिवेदी !!
सभा मे
*ज्ञापन* साैपने वालाे मे काेदूलाल चाैघरी ,राजू काेल ,राम प् साद चाैघरी, दयाराम चाैघरी, सूरजदीन चाैघरी, शिवप् साद चाैघरी, रामकलेश चाैघरी रामदीन चाैघरी, देवेन्द् चाैघरी, सुरेश्वर , भगवानदीन ,काशी दीन, श्याम सुदन, रामसुन्दर ,वासुदेव, रामकिशाेर, रामनिवास, रामआैतार, रघुराई ऱामविश्वास संजय ,रावेन्द्, सियासरण ,गाेरेलाल, रामप् साद चाैघरी, रामसनेही चाैघरी, रामकरण चाैघरी , क् ष्णपाल चाैघरी आदि लाेग शामिल रहे !!

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close