छतरपुर

कोरोना का जानलेवा कहर, एक दिन में दो की मौत बक्स्वाहा के 62 वर्षीय बुजुर्ग ने एंबुलेंस में दम तोड़ा

एमपीसीजी एक्सप्रेस न्यूज

कोरोना का जानलेवा कहर, एक दिन में दो की मौत
बक्स्वाहा के 62 वर्षीय बुजुर्ग ने एंबुलेंस में दम तोड़ा

गढ़ीमलहरा के 65 वर्षीय बुजुर्ग ने कोविड रिपोर्ट आने के 15 मिनिट बाद गंवाई जान

छतरपुर। जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मौत के आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं। शनिवार को एक ही दिन में जिले के दो अलग-अलग हिस्सों से मौत की दो खबरें सामने आईं। बक्स्वाहा में कोरोना पॉजिटिव पाए गए एक 62 वर्षीय बुजुर्ग ने छतरपुर लाते समय एंबुलेंस में दम तोड़ दिया तो वहीं गढ़ीमलहरा के 65 वर्षीय बुजुर्ग ने छतरपुर के मिशन अस्पताल में कोरोना रिपोर्ट आने के 15 मिनिट बाद अपनी जान गवां दी। जिले में अब अधिकृत रूप से मौत के 22 मामले दर्ज हो चुके हैं। गैर अधिकृत आंकड़ों की मानें तो जिले में कोरोना संक्रमण से 26 मौते हो चुकी हैं।

मेडिकल रिपोर्ट ठीक थी, सदमे में चली गई जान

स्वास्थ्य प्रबंधन से मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार की शाम बक्स्वाहा के वार्ड क्रमांक 14 में रहने वाले 62 वर्षीय हरिश्चन्द्र खटीक में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। उन्हें रात को ही बक्स्वाहा के कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया था। वे रात भर पूरी तरह ठीक रहे, उनका ऑक्सीजन लेबिल 99 था जबकि ब्लड प्रेशर भी सामान्य था। शनिवार की सुबह उठे तो उन्हें घबराहट होने लगी। घबराहट के कारण ही उन्हें छतरपुर जिला अस्पताल लाया जा रहा था लेकिन दोपहर एक से दो बजे के बीच उन्होंने रास्ते में दम तोड़ दिया। बाद में उनके शव को अंतिम संस्कार के लिए छतरपुर लाया गया। जिला प्रशासन की अनुमति के बाद उनके परिवार के कुछ लोग दूर से दर्शन करने के लिए छतरपुर बुलाए गए। देर शाम कोविड गाइड लाइन के तहत उनका अंतिम संस्कार किया गया।

ऑक्सीजन लेबिल पहुंचा 40, रिपोर्ट के बाद मौत

जिले में दूसरी मौत शनिवार की शाम हुई। गढ़ीमलहरा के दिवाले परिवार से संबंध रखने वाले 65 वर्षीय गोविंद चौरसिया पिछले लगभग एक सप्ताह से बीमार थे। उनके परिवार के लोग बीते रोज उन्हें जिले के निजी मसीही अस्पताल में भर्ती कराने लाए थे। यहां उनका उपचार चलता रहा जब उन्हें आराम नहीं मिला तो मसीही अस्पताल ने उनकी कोरोना जांच कराने का सुझाव दिया। शनिवार को उनका ऑक्सीजन लेबिल 40 तक पहुंच चुका था। सिविल सर्जन डॉ. एलएल तिवारी को जब उक्त मरीज के विषय में जानकारी दी गई तो उन्होंने रेपिड एंटीजन किट के साथ सेम्पल टीम को मसीही अस्पताल भेजा जहां उनका कोरोना सेम्पल लिया गया। सेम्पल की रिपोर्ट आधे घंटे में मिल गई लेकिन इसके पॉजिटिव आने के 15 मिनिट बाद ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

318 सेम्पल निगेटिव आए, 87 रोके

शनिवार को सागर मेडिकल कॉलेज से आई कोरोना सेम्पल की जांच रिपोर्ट में कुल 405 सेम्पल में से 318 नतीजे निगेटिव रहे जबकि 87 सेम्पल रोके गए हैं। उल्लेखनीय है कि उक्त 405 सेम्पल शुक्रवार को सागर भेजे गए थे। शनिवार को भी 330 सेम्पल जांच के लिए सागर भेजे गए। जिले में लगातार 300 से अधिक लोगों की सेम्पलिंग प्रतिदिन हो रही है। साधारण लक्षणों वाले मरीजों की जांच सागर मेडिकल कॉलेज से कराई जा रही है जबकि गंभीर बीमार मरीजों की जांच रेपिड किट के माध्यम से हो रही है। इस किट से होने वाली जांच आधे घंटे में मिल जाती है। सरकार के निर्देश पर प्रशासन ने जिले के 17 फीवर क्लीनिक में उक्त किटें वितरित की हैं जहां लोग स्वेच्छा से अपनी कोरोना जांच करा सकते हैं।

10 मरीज हुए डिस्चार्ज

जिले के 10 कोरोना मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। आज कोविड केयर सेंटर महोबा रोड से 5, नौगांव से 1, और बड़ामलहरा से 1 मरीज को डिस्चार्ज किया गया है। जबकि जिला अस्पताल छतरपुर के आइसोलेशन वार्ड से 3 मरीज डिस्चार्ज किए गए है। जिले से अब तक कुल 683 मरीजों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

फैक्ट फाइल-

कुल संक्रमित – 821

स्वस्थ हुए – 683

एक्टिव केस – 117

मौतें – 22

रिकवरी रेट – 83.19

कुल सेम्पल – 22319

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close