उत्तर प्रदेश

तालबेहट :- प्रदेश में पत्रकारों को धमकाने और मारपीट के मामलो पर नहीं लग पा रही लगाम

मु.जाकिर मंसूरी एमपीसीजी एक्सप्रेस न्यूज़

प्रदेश में पत्रकारों को धमकाने और मारपीट के मामलो पर नहीं लग पा रही लगाम

पत्रकार का ट्रेक्टर हड़पने और गाली-गलौज का विरोध करने पर दबंगों ने दी पत्रकार को जान से मारने की धमकी।

तालबेहट/ललितपुर :- प्रदेश में पत्रकारों को धमकाने और मारपीट के मामलो पर नहीं लग पा रही लगाम।ताजा मामला कोतवाली क्षेत्रान्तर्गत तेरई फाटक चौकी में एक दबंग व्यक्ति द्वारा गाँव तरगुवा निवासी पत्रकार को परिवार सहित जान से मारने व अभद्रता करने का मामला प्रकाश में आया है।

पीड़ित पत्रकार ने कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज वर्मा को एक प्रार्थना पत्र सौपकर उक्त दवंगों पर कार्यवाही कर अपना ट्रेक्टर वापिस दिलाने की माँग की है पत्रकार द्वारा प्रभारी निरीक्षक को दिये गये प्रार्थना पत्र में बताया गया कि वह 31 जुलाई को दोपहर करीब तीन बजे चौकी प्रभारी के बुलाने पर तेरई फाटक चौकी गया था,जहाँ पर बैठे लाल सिंह यादव पुत्र प्रान सिंह यादव निवासी धमकना जो मेरे ट्रैक्टर को जबरन रूप से अपने पास रखे हुये है,और जिनके विरूद्ध उसने अपने ट्रैक्टर को छुड़वाने के लिये तेरई फाटक चौकी प्रभारी अजय कुमार को एक शिकायती पत्र दिया था।उनके साथ एक अज्ञात व्यक्ति भी पहिले से मौजूद था।

मेरे चौकी में पहुँचने पर चौकी प्रभारी ने हम सभी लोगों से आपस में बात करने के लिये कहा जिस पर उक्त दबंग विपक्षीगणों ने मेरे साथ गाली-गलौच करने लगे व मेरे द्वारा गाली देने से मना करने पर मुझे मारने पर उतारू हो गये और मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी देने लगे साथ ही अभद्र गाँलियों का प्रयोग करते हुये कहा कि यदि ट्रैक्टर सोनालिका क्रमांक 740 डीआई यूपी 94 आर २ 2879 हमारे नाम स्थानान्तरण नही किया तो तुझे व तेरे परिवार को जान से मारकर फेक देगे।

मेरे परिवार में मेरे पिता ने तीन शादिया की है,जिसमें मे दूसरी पत्नी की संतान हूँ,और मेरे पिता रामाधीन सिंह गौर पुत्र दरयाव सिंह गौर मेरे अन्य सोतेले परिजन जितेन्द्र सिंह गौर पुत्र रामाधीन सिंह मुझसे रंजिश रखते है व मेरे और मेरे परिवार के साथ कभी भी कोई भी अप्रिय घटना घटित कर सकते है पत्रकार द्वारा उक्त दवंगों से अपनी और अपने परिवार की जान-माल की सुरक्षा करते हुये कानूनी कार्यवाही कर व ट्रैक्टर जो उसके नाम है वापिस दिलावाये जाने की माँग की है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close