दमोह

दमोह :- बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो इसलिए युवक ने घर मे खोल लिया स्कूल, निःशुल्क कर रहे बच्चे पढ़ाई

मनोहर शर्मा एमपीसीजी एक्सप्रेस न्यूज़

बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो इसलिए युवक ने घर मे खोल लिया स्कूल, निःशुल्क कर रहे बच्चे पढ़ाई

लॉकडाउन में स्कूल बंद होने से बच्चों की पढ़ाई नही रुके इश्लिए बीजाडोंगरी गांव एक युवक ने घर खोल किया स्कूल और बच्चो की मुफ्त मैं करवा रहे पढ़ाई!

दमोह :- जिले के बीजाडोंगरी गांव के युवक ने कोरोना काल मे बच्चों निशुल्क करवा रहे पढ़ाई, कोरोना वायरस से बचाव के लिए पिछले तीन महीनों से प्रदेश भर मैं स्कूल बंद हैं और इससे बच्चों की साल भर की पढ़ाई बाधित हो रही है अभिभावक अपने बच्चों की शिक्षा को लेकर चिंतित हो रहे हैं।

विशेषज्ञों का मानना है कि लंबे समय तक स्कूल से दूर रहने पर बच्चों के गणित और समझने संबंधी कौशल में कमी आ सकती है।वहीं स्थिति जल्द सामान्य नहीं होगी: इन कौशलों को वापस पाने के लिए बच्चों को कई महीने लग सकते हैं जिसके चलते बीजाडोंगरी के शिक्षित युवक के द्वारा अपना फ्री समय बच्चो की पढ़ाई करवाने लगाने का मन बना किया हैबीजाडोगरी युवा बच्चों को।

मुफ्त शिक्षा देने का काम कर रहा है ग्राम बीजाडोगरी के शिक्षित युवक प्रकाश नायक लगभग एक माह बच्चो को मुफ्त मैं शिक्षा, दे रहे है रोजना सुबह शाम 2से-3 घंटे सोसल डिस्टेंश जा पालन करते 10-10 बच्चो को विठाकर बच्चों को एक माह से पढ़ाई करवाते है जिसके पीछे युवक का कहना है तीन महीनों से स्कूल बंद होने से बच्चो,की पढ़ाई का नुक़सान ना हो।

प्रकाश नायक का कहना है कि बच्चों को दूरदर्शन पर पढ़ाई तो होती है लेकिन जिस समय पढ़ाई होती है उसी समय या बिजली गुल हो जाती है या कोई और काम आ जाता है जिससे बच्चेI पढ़ नहीं पाते हैं। और व्हाट्सएप पर 13S DigiLep पर भी पढाई होती है लेकिन गांव मे अधिकतर लोग जिओ के छोटे फोन उपयोग करते है जिसमे सही से पढ़ाई नही होती है । इन सब कमियों के चलते बच्चो का नुकसान ना हो इश्लिए बच्चो को पढ़ाई करवाने अपना फुर्सत के समय का सदुपयोग कर रहे है!

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close