दुनियादेश

कोरोना की चपेट में ईरान के 23 सांसद,54 हजार से कैदी रिहा

एमपीसीजी एक्सप्रेस न्यूज

चीन के बाद ईरान में कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा खतरा

ईरान ने अपने देश में 54 हजार से ज्यादा कैदियों की रिहा किया

ईरान के 23 सांसद भी कोरोना से संक्रमित हैं

नई दिल्ली। चीन के बाद कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा प्रकोप ईरान में देखने को मिल रहा है। देश में तेजी से फैल रहे वायरस के खतरे को देखते हुए ईरान की सरकार भी एक्टिव है। जेलों में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ईरान सरकार ने 54 हजार से ज्यादा कैदियों को अस्थायी तौर पर रिहा कर दिया है। वहीं ईरान के 23 सांसद भी कोरोना की चपेट में हैं।

न्यायपालिका के प्रवक्ता घोलम हुसैन इस्माइली ने बताया, कैदियों की जांच की गई है। इनके सैंपल निगेटिव पाए जाने के बाद इन्हें अस्थायी तौर पर जमानत पर छोड़ा गया। जानकारी के मुताबिक, ईरान के जिन जेलों में कैदियों की संख्या बहुत अधिक है, वहां कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है। हालांकि जिन कैदियों को 5 साल से ज्यादा की सजा सुनाई गई है उन्हें रिहा नहीं किया गया है।मंगलवार को ईरान में कोरोना वायरस के 835 नए मामले सामने आए। इस बीच 290 सदस्यीय ईरान की संसद में 23 सांसदों में कोरोना वायरस के पॉजिटिव लक्षण मिले।

भारत में कोरोना से हड़कंप, तैयारियों का जायजा लेने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की बैठक आज
बता दें कि, दुनियाभर में अभी तक कोरोना वायरस के कारण करीब 3110 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 90 हजार से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं। वहीं ईरान में पिछले 2 हफ्तों में 77 लोगों की मौत हो चुकी है। 2330 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। ईरान में मंगलवार को कोरोना के 835 नए मामले सामने आए।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close